Shri Prabhat Times

कैरियर अवसर मेला का हुआ आयोजन

कैरियर अवसर मेला का हुआ आयोजन

रोजगार चयन हेतु युवाओं को दिया गया मार्गदर्शन

 श्री प्रभात टाइम्स होशंगाबाद/10,मार्च,2021/ शासकीय गृहविज्ञान स्नातकोत्तर महाविद्यालय में  बुधवार 10 मार्च  को वृहद कैरियर अवसर मेला का आयोजन किया गया। प्राचार्य शासकीय गृहविज्ञान अग्रणी महाविद्यालय डॉ कामिनी जैन ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के 10 महाविद्यालयों को मेला के लिए चयनित किया गया था। जिसके परिपालन में शासकीय गृहविज्ञान अग्रणी महाविद्यालय  में आज मेला का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि  वृहद कैरियर  मार्गदर्शन मेले का आयोजन प्रतिवर्ष विवेकानंद  मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के तत्वाधान में  किया जाता है। कैरियर अवसर मेला कार्यक्रम में मुख्य अतिथि श्रीमती संध्या थापक, विशिष्ट अतिथि अनुविभागीय दण्डाधिकारी  आदित्य रिछारिया ,  पियूष शर्मा,  डॉ. ओ.एन चौबे, करियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ  प्रभारी डॉ. संगीता अहिरवार ,डॉ. विनीता अग्रवाल उपस्थित थे।

      कन्या पूजन एवं मां सरस्वती के पूजन से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया

महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ कामिनी  जैन ने अपने स्वागत भाषण में मंचासीन अतिथियों एवं स्टॉल संचालकों का स्वागत करते हुए कहा कि वृहद कॅरियर अवसर मेले का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों को रोजगार के उचित अवसर प्रदान करना है। स्नातक एवं स्नातकोत्तर स्तर पर अध्ययनरत विद्यार्थी अपनी रूचि अनुसार रोजगार एवं व्यवसाय का चयन कर सकें। उन्होंने कहा कि वर्तमान में आईटी के क्षेत्र में रोजगार के बेहतर अवसर प्राप्त हो सकते है, आगामी वर्षों में डिजीटल रोजगार के अवसर में वृद्धि होगी। इसलिए युवाओं की तकनीकि योग्यता बढ़ानी होगी।

      विवेकानंद मार्गदर्शन प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ. संगीता अहिरवार ने  कहा कि स्वरोजगार के क्षेत्र में भी युवाओं द्वारा अपने भविष्य को स्थायित्व प्रदान किया जा सकता है।

 डॉ ओ एन चौबे ने अपने उद्बोधन में कहा कि होशंगाबाद जिला कृषि प्रधान जिला है ,हमें कृषि क्षेत्र में रोजगार के अवसर तलाशने  होंगे। एसडीएम श्री आदित्य रिछारिया ने  कहा कि जिले आस पास औद्योगिक क्रान्ति आ गई है, जो हमारे जिले के युवाओं के लिए लाभदायक होगी।

       पियूष शर्मा ने विद्यार्थियों को उद्भोधित करते हुए कहा कि होशंगाबाद जिले में टूरिज्म के क्षेत्र में बेहतर रोजगार की संभावना है। इस क्षेत्र में लगभग 2500 लोग काम कर रहे हैं। इस संख्या को थोड़े से प्रयास से 10 हजार तक पहुंचाया जा सकता है। मुख्य अतिथि श्रीमती संध्या थापक ने अपने उद्बोधन में कहा कि शासन की जो रोजगार की योजनाएँ चलायी जा रही है इनमें युवा वर्ग बढ़-चढ़कर भाग लें ।

      कार्यक्रम में विभिन्न स्टॉल संचालकों ने अपनी योजना एवं अपने विषय क्षेत्र में रोजगार के अवसर से अवगत कराते हुए विधार्थियों का मार्गदर्शन किया। कार्यक्रम में डॉ अनिल सिरवैया ने बताया कि देश में स्वरोजगार से लगभग 98 प्रतिशत लोग जुड़े है। हमारा मुख्य उद्देश्य है कि एक जिले से एक मुख्य उत्पादन को लिया जाए। श्री सिरबैया ने शासन की विभिन्न योजनाओं से विद्यार्थियों को अवगत कराया।

      मेला में लगभग 35 स्टॉल का संचालन किया गया। मेला से पूर्व 1600 विद्यार्थियों ने ऑनलाईन एवं लगभग 550 विद्यार्थियों ने अपना पंजीयन कराया। मेला के समापन सत्र में सभी संचालको को प्रमाण-पत्र प्रदान किये गए। कार्यक्रम में महाविद्यालयीन स्टाफ एवं भारी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *