Shri Prabhat Times

आरकेटीसी कंपनी के कर्मचरियों पर दो माह में चौथी बार हमला, अभी तक सभी आरोपी पुलिस की पहुंच से बाहर आखिर क्यों ?

श्री प्रभात टाइम्स होशंगाबाद – जिले की होरियापीपर रेत खदान पर सोमवार दोपहर करीब एक बजे जमकर झगड़ा हुआ। रेत कंपनी की फ्लाइंग स्कॉट की टीम को अवैध रेत उत्खनन की सूचना मिली थी। जिसके बाद कंपनी के कर्मचारी अवैध रेत उत्खनन रोकने खदान पर पहुंचे। रेत उत्खनन रोकने पहुंचे कर्मचारियों पर पहले से ही घात लगाकर बैठे कुछ लोगों ने लाठी और डंडों से हमला कर दिया। हमले में कंपनी के पांच कर्मचारियों को गंभीर चोटें आई है। साथ ही 3 चार पहिया वाहनों में भी जमकर तोड़फोड़ की गई। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। कंपनी के अन्य कर्मचारियों को हमले की सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर दो अन्य गाड़ियां भेजी गई और तुरंत घायलों को इलाज के लिए नर्मदा अपना अस्पताल में भर्ती कराया है। कर्मचारियों ने तत्काल घटना की जानकारी रामपुर थाना पुलिस को दी।

कंपनी के राघवेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि सभी घायलों को कंपनी के वाहनों से इलाज के लिए नर्मदा अपना अस्पताल में भर्ती कराया है। मारपीट में कंपनी के आधा दर्जन से अधिक कर्मचारी अमृत सिंह, करन सिंह, अमरीश सिंह, संजय, राजाराम, धीरज, कृष्णा घायल हुए है। जिसमें से अमृत सिंह की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्होंने बताया कि मारपीट करने वालों में प्रदीप कीर, नीलेश कीर, मयंक कीर, संतोष, विनोद और बाबा के नाम सामने आ रहे हैं। पुलिस अस्पताल पहुंची है और घायलों के बयान दर्ज कर रही है।

पिछले माह भी तीन बार हो चुका है विवाद

बीते कुछ माह से होरियापीपर रेत खदान काफी विवादों में है। विवाद के चलते कंपनी ने खदान को बंद कर दिया था। बावजूद इसके होरियापीपर और उसके आसपास रहने वाले राजनीतिक संरक्षण प्राप्त दबंग खदान से रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन कर रहे हैं। राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के चलते पुलिस के आला अधिकारी भी इन दबंगों पर शिकंजा कसने से डर रहे हैं। आलम यह है कि बीते सवा महीने में यह चौथा विवाद है। लेकिन इन पूरे विवादों में अपराधियों को पकड़ने में पुलिस के हाथ पूरी तरह से खाली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *