Shri Prabhat Times

एक और कंपनी की हिस्सेदारी बेचने की हो रही तैयारी, सरकार को मिल सकते हैं 5020 करोड़ रुपये

मोदी सरकार तेजी से निजीकरण की राह पर बढ़ रही है। सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम के निजीकरण की तैयारियों के बीच केंद्र सरकार ने एक और सरकारी कंपनी में हिस्सेदारी बेचने का फैसला लिया है। सरकार जल्द ही एयरोस्पेस व डिफेंस कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) की अपनी 15 फीसदी हिस्सेदारी बेच सकती है। इससे सरकार को 5,020 करोड़ रुपये मिलने की संभावना है।

बिक्री ऑफर फॉर सेल के जरिए हो सकती है। इसका फ्लोर प्राइस कंपनी के 1,001 रुपये प्रति इक्विटी शेयर पर तय किया गया है। मालूम हो कि बुधवार के कारोबार बंद होने के वक्त 1,177.75 रुपये प्रति शेयर के मुकाबले मौजूदा कीमत 15 फीसदी छूट पर है।
इस संदर्भ में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड ने रेगुलेटरी फाइलिंग में कहा कि ऑफर फॉर सेल 27 और 28 अगस्त को स्टॉक एक्सचेंज की एक अलग विंडो पर होगा। इसके तहत कंपनी के प्रमोटर एक्सचेंज प्लेटफॉर्म पर अपने शेयर बेचकर कंपनी में अपनी हिस्सेदारी को कम करते हैं।
मालूम हो कि सरकार ने 3,34,38,750 इक्विटी शेयर बेचने का प्रस्ताव किया है। इसमें कंपनी की 10 फीसदी पेड-अप शेयर कैपिटल है, जिसमें पांच फीसदी अतिरिक्त हिस्सेदारी या 1,67,19,375 इक्विटी शेयर (ओवरसब्सक्रिप्शन विकल्प) बेचने का भी विकल्प है।