Shri Prabhat Times

समेरिटंस स्कूल में प्रभाषी नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन प्रशस्ति रघुवंशी और आकृति जैन रही प्रथम

 श्री प्रभात टाइम्स 21 दिसंबर 2020
होशंगाबाद। कोविड-19 को लेकर मार्च 2020 से बंद स्कूल अभी तक खुल नहीं सके हैं। इसके कारण स्कूली बच्चों की पढ़ाई के साथ ही अन्य रचनात्मक गतिविधियां भी ठप पड़ी हुई हैं। ऐसे विपरीत समय में भी शहर की प्रतिष्ठित शिक्षण संस्था समेरिटंस स्कूल प्रबंधन द्वारा अपने विद्यार्थियों के शैक्षणिक और कलात्मक, रचनात्मक विकास के लिए भरपूर प्रयास किए जा रहे हैं। एक ओर जहां विद्यालय द्वारा आॅन लाइन कक्षाओं का बेहतर संचालन कर बच्चों को शिक्षित किया जा रहा है, वहीं रचनात्मक गतिविधियों का आयोजन भी सतत किया जा रहा है। इसी तारतम्य में सोमवार को स्कूल प्रबंधन द्वारा माध्यमिक स्तर के विद्यार्थियों के लिए प्रभाषी नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें दो दर्जन से ज्यादा विद्यार्थियों ने भागीदारी की और अपने नृत्य के वीडियो विद्यालय को भेजे। प्राप्त नृत्य वीडियो का प्रदर्शन स्कूल में किया गया और निर्णायक मंडल द्वारा श्रेष्ठ प्रतिभागियों को पुरस्कार के लिए चुना गया। इस प्रतियोगिता में प्रशस्ति रघुवंशी और आकृति जैन को प्रथम पुरस्कार के लिए चुना गया।
इस संबंध में विद्यालय के संचालक और प्राचार्य डाॅ आशुतोष शर्मा ने बताया कि प्रबंधन का हरसंभव प्रयास है कि कोविड-19 के प्रभाव के चलते विद्यार्थियों के शैक्षणिक और रचनात्मक विकास में किसी भी प्रकार की कमी नहीं रहनी चाहिए। इस बात को ध्यान में रखकर विद्यालय प्रबंधन द्वारा बच्चों को लगातार मार्गदर्शन दिया जा रहा है। इस कार्य में अभिभावकों का भी पूरा सहयोग हमें मिल रहा है। उन्होंने बताया कि आयोजित प्रभाषी नृत्य प्रतियोगिता में हमें दो दर्जन से ज्यादा वीडियो प्राप्त हुए। इनमें कक्षा पांचवीं और छठवीं कक्षा समूह में प्रशस्ति रघुवंशी को प्रथम, यशिका वर्मा को द्वितीय, अनुपमा मालवीय को तृतीय और अनुश्री सोनी को चतुर्थ पुरस्कार के लिए चुना गया। इसके अलावा कक्षा सातवीं और आठवीं समूह में आकृति जैन को प्रथम, मेकलसुता विश्वकर्मा को द्वितीय, मोमिता राय को तृतीय और नंदिनी यदुवंशी को चतुर्थ पुरस्कार के लिए चुना गया। सभी विद्यार्थियों को शीघ्र ही पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। साथ ही इनके वीडियो यूट्यूब पर भी अपलोड किए जा रहे हैं, ताकि इनकी प्रतिभा से अन्य लोग भी परिचित हो सकें। निर्णायक मंडल में उप प्राचार्य प्रेरणा रावत, पिपरिया प्राचार्य कल्पना शर्मा, अंशु गौर और वैशाली तिवारी शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *