Shri Prabhat Times

Sunday, 15th December 2019 12:42 PM

E-पेपर पड़ने के लिए क्लिक करे .

पूरे वर्ष फ्री अखबार आपके घर बुलाने के लिए क्लिक करें .

Breaking News

<<वापस जाये

दिनांक: 13-Nov-2019, Wednesday ,Hoshangabad

बनखेड़ी टीआई का भीड़ ने पत्थर मारकर फोड़ा सिर, अन्य पुलिसकर्मी भी घायल

प्रतिबंध क्षेत्र होने के बाद भी रविवार-बुधवार को पहुंच रहे लाखों श्रृद्धालु, पुलिस प्रशासन नहीं कर पा रहा भीड़ को काबू

श्री प्रभात टाईम्स होशंगाबाद। श्रृद्धा, भक्ति भाव और अंधविश्वास के चलते लोगों के इलाज से प्रचलित हुए होशंगाबाद जिले का नया गांव का महुआ का पेड़ इन दिनों खूब चर्चा में रहा। बहुचर्चित महुआ के पेड़ के बारे में कहा जा रहा है कि पेड़ के स्पर्श मात्र से ही गंभीर से गंभीर बीमारियों में असर होता है। जिसके चलते सोशल मीडिया पर जनचर्चा इतनी बढ़ गई कि प्रत्येक बुधवार रविवार को लाखों श्रृद्धालु अपने परिजनों सहित पहुंच रहे है। प्रतिबंधित वन क्षेत्र में होने के कारण प्रशासन ने पहुंच रहे श्रृद्धालुओं पर भी रोक लगा दी जिसके चलते बुधवार 13 नवंबर को पुलिस प्रशासन पर श्रृद्धालुओं की भीड़ ने पथराव कर दिया जिसमें बनखेड़ी टीआई शंकरलाल झारिया सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस के पथराव से बनखेड़ी टीआई श्री झारिया के सिर में पत्थर लगने से घायल हो गए।

कमजोर पड़ी सायबर क्राइम टीम

पिछले एक पखवाड़े से पुलिस प्रशासन और सायबर क्राइम टीम फोकट के ढोल पीट रही है और कह रही है सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैलाने वालों पर कार्यवाही की जाएगी। लेकिन ऐसा कुछ दिख नहीं रहा है इसका परिणाम पुलिस को भुगतना पड़ रहा है। अब देखना यह है कि पत्थर मारने वाली भीड़ पर कार्यवाही होगी या इसी प्रकार फिर फालतू ढोल पीटकर वाह-वाही लूटेंगे। जानकारी से पता यह चल रहा है कि महुआ पेड़ को चमत्कारी रूप देने वाली सोशल मीडिया ही है। यदि पुलिस प्रशासन और सतपुड़ा टाईगर रिजर्व की टीम चाहती तो प्रतिबंधित क्षेत्र में इंसान की तो क्या बात परिंदे भी पर नहीं मार सकते। लेकिन दोनों लाचार होने कारण पब्लिक अपनी मनमानी कर रही है और कानून अपने हाथ में लेकर वहीं चमत्कारी खेल खेल रही है जिसमें पुलिस भी अब अछूती नहीं बच पा रही है और आखिर शर्म की बात तो है ही कि पुलिस के आधा दर्जन के लगभग पुलिसकर्मियों पर लोगों ने पथराव कर घायल कर दिया। अब देखना यह है कि जिस प्रकार पुलिस प्रशासन भीड़ को काबू नहीं कर पाया क्या ऐसे ही सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर प्रशासन रोक लग पाएगा

News By: Santram Nishrele

icon1048
iconShare on whatsapp

<<वापस जाये