Shri Prabhat Times

Wednesday, 1st April 2020 12:22 PM

E-पेपर पड़ने के लिए क्लिक करे .

पूरे वर्ष फ्री अखबार आपके घर बुलाने के लिए क्लिक करें .

Breaking News

<<वापस जाये

दिनांक: 17-Feb-2020, Monday ,Hoshangabad

प्रदेश यूनाइटेड फोरम के बैनर तले फिर विद्युत संविदा कर्मियों ने भरी हुंकार

Shriprabhattimes 17 February 2020

प्रदेश यूनाइटेड फोरम के बैनर तले फिर भरी विद्युत संविदा कर्मियों ने हुंकार* *एक बार फिर विद्युत संविदा कर्मियों ने एकता दिखा कर बड़े आंदोलन के दिए संकेत* *वर्षों से अपनी नियमितीकरण की लंबित मांगों के निराकरण हेतु संघर्षरत हैं विद्युत संविदा कर्मी* *नियमितीकरण हेतु कर्मचारी आयोग को देंगे ज्ञापन* *भोपाल* दिनांक 17 फरवरी 2020 को मध्य प्रदेश यूनाइटेड फोरम के बैनर तले भोपाल जिला अंतर्गत विद्युत संविदा कर्मियों की बैठक का आयोजन किया गया मीडिया विभाग के प्रवक्ता लोकेंद्र श्रीवास्तव ने बताया बैठक की अध्यक्षता माननीय इंजीनियर व्ही. के. एस. परिहार द्वारा की गई उक्त बैठक के माध्यम से संगठन द्वारा विद्युत संविदा कर्मियों के नियमितीकरण के संबंध में आगामी रूपरेखा तय की गई ,जिसमें इंजी. मुकेश वर्मा के द्वारा बताया गया की मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा कर्मचारी आयोग का गठन किया गया है जिसमें ऊर्जा विभाग से संबंधित अधिकारी कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के संबंध में माननीय वीरेंद्र खोंगल जी को प्रभार सौंपा गया है ततसंबंध में संगठन ने तय किया है कि शीघ्र ही वीरेंद्र खोंगल जी के समक्ष विद्युत संविदा कर्मियों के ड्राफ्ट को रखा जाएगा एवं नियमितीकरण की मांग को उठाया जाएगा. मध्यप्रदेश में बिजली संविदा कर्मचारियों की संख्या 6000 के लगभग है और सभी बिजली संविदाकर्मी व्यापम द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं के माध्यम से बिजली कंपनियों में भर्ती हुए हैं बिजली विभाग में पिछली सरकार द्वारा संविदा पाल्सी 2018 प्राप्त है जिसमें नियमित कर्मचारियों के समकक्ष 90 % वेतनमान कर्मचारियों को दिया जा रहा है, वर्तमान कांग्रेस सरकार को बिजली संविदा अधिकारियों कर्मचारियों को नियमित करने में मात्र 10 % वित्तीय भार की जरूरत है और कांग्रेस का अति महत्वपूर्ण वचन पूर्ण हो जाएगा. बिजली विभाग मे 24 घंटे कर्मचारी जान जोखिम में रहती है कर्मचारी की दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर संविदा में होने कारण किसी भी प्रकार की सुविधाएं जैसे अनुकंपा नियुक्ति , निराश्रित पेंशन, फंड आदि किसी भी प्रकार की सुविधाएं संविदा कर्मचारी को प्राप्त नहीं होती इसीलिए सरकार को प्राथमिकता से पहले बिजली विभाग से नियमितीकरण चालू करना चाहिए. डिवीजन स्तर के सभी अति सक्रिय संविदा कर्मचारियों को सम्मानित कर परिहार जी से आशीष प्रदान किया गया, संविदाकर्मी महिला प्रदेश अध्यक्ष कुमारी स्वर्णलता नाग जी के द्वारा बताया गया की भोपाल प्रदेश की राजधानी है एवं भोपाल की सक्रियता, अपनी मांगों के प्रति जुझारूपन संपूर्ण प्रदेश को एक नेतृत्व देती है एवं मार्गदर्शन करती है शीघ्र ही माननीय ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह जी एवं चुनाव के पूर्व वर्ष 2017 में विद्युत संविदा कर्मियों के कार्यक्रम चिनार पार्क में उपस्थित होकर वर्तमान मंत्री माननीय पी. सी. शर्मा जी के द्वारा जो नियमितीकरण के संबंध में वचन दिया गया था उक्त संबंध में माननीय जी को भी ज्ञापन सौंपा जावेगा एवं पूर्ण मजबूती के साथ नियमितीकरण की मांग रखी जावेगी ,जिसमें भोपाल जिला अंतर्गत सक्रिय साथियों की भूमिका प्रमुख रहेगी अंत में बैठक को संबोधित करते हुए माननीय इंजीनियर व्ही. के. एस. परिहार जी के द्वारा फोरम की ओर से विद्युत संविदा कर्मियों के नियमितीकरण के संबंध में पूर्ण सहयोग उपलब्ध कराकर शीघ्र मांगों के निराकरण हेतु आश्वस्त किया एवं मांगे पूरी ना होने की स्थिति में जमीनी स्तर पर अग्रिम आंदोलनों में संघर्ष हेतु संविदा कर्मी सक्रिय बने रहे। बैठक में भारी मात्रा में अधिकारी एवं कर्मचारियों की उपस्थिति रही। लोकेंद्र श्रीवास्तव (प्रदेश मीडिया प्रभारी) *मध्यप्रदेश यूनाइटेड फोरम फॉर पावर एंप्लॉय एवं इंजीनियर* बिजली अधिकारी कर्मचारियों का संयुक्त संगठन Mo.9479611461

News By: Santram Nishrele

icon590
iconShare on whatsapp

<<वापस जाये